राजस्थान का पहला स्मारक मिलेगी बेबी फिडिंग सुविधा

जयपुर। पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग अपने अधीन आने वाले किले, महलों में कुछ ना कुछ नई एक्टिविटीज करता है, ताकि मॉन्यूमेंट्स विजिट के दौरान पर्यटकों को कुछ नया देखने को मिले। नाहरगढ़ फोर्ट में वैक्स म्यूजियम, आमेर महल में सेगवे स्कूटर और अल्बर्ट हॉल संग्रहालय में पर्यटकों की सुविधार्थ एटीएम की सुविधा की गई है। वहीं अब अपने माता-पिता के साथ हवामहल स्मारक आने वाले नन्हें पर्यटकों का ख्याल करने की कवायद जल्द शुरू की जाएगी। इसके लिए स्मारक में दूधमुंहे बच्चों के लिए बेबी फिडिंग रूम बनाया जा रहा है, ताकि हवामहल स्मारक विजिट के दौरान नन्हें पर्यटकों को भूख लगे तो मां उन्हें स्मारक परिसर में बने बेबी फिडिंग रूम में दूध पिला सकेंगी।

हवामहल प्रशासन के अनुसार कई बार स्मारक में घूमने आने वाली महिलाएं बच्चों को दूध पिलाने के लिए परिसर में बेबी फिडिंग रूम की सुविधा के विषय पूछती थी, लेकिन यहां ऐसी कोई सुविधा नहीं थी। परंतु अब जल्द ही महिला पर्यटकों एवं छोटे बच्चों की सुविधार्थ बेबी फिडिंग रूम की अलग से व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा उस रूम में बच्चों के खेलने के लिए खिलौनों की व्यवस्था भी होगी। ताकि कोई छोटा बच्चा रोए तो यह खिलौने उनके चेहरे में मुस्कान लाने में सहायक सिद्ध हो सके। प्रदेश में हवामहल स्मारक पुरातत्व विभाग संग्रहालय विभाग का ऐसा पहला स्मारक होगा, जहां बेबी फिडिंग रूम की अलग से व्यवस्था की जाएगी।

हवामहल स्मारक में जल्द ही बेबी फिडिंग रूम की व्यवस्था की जाएगी। 

-हृदेश कुमार शर्मा, निदेशक पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग

Leave a Comment