दीपावली तक हर दूसरे दिन शुभ योगों का संयोग

आगामी पखवाड़े में 14ण् दिन खरीददारी किए सर्वश्रेष्ठ योग

इस बार दीपावली तक हर दूसरे दिन शुभ योगों का संयोग के साथ साथ महामुहूर्त बन रहे हैं ए जिनमे खरीददारी करना अक्षय फलदायी होगा। इस बार स्वयं सिद्ध अबूझ मुहूर्त के साथ रवि और सर्वथा सिद्धि का संयोग भी रहेगा । दिपावली तक खरीद के शुभ संयोगों में शरद पूर्णिमाए करवाचौथए पुष्य नक्षत्रए धनतेरसए रूप चौदसए दिपावाली स्वयं सिद्ध अबूझ मुहूर्त बन रहे हैं ए इन शुभ मुहूर्तों में वाहनए खाता.रोकड़ए आभूषणए वस्त्रए इलेक्ट्रॉनिक आइटमए मोबाइलए कंप्यूटरए फर्नीचरए व्यापार आरंभए ग्रह प्रवेशए भूमि पूजन करना शुभ फलदायी होगा। 

अबूझ मुहूर्त के दो दिन

17 अक्टूबर धनतेरस ए19 अक्टूबर दिपावाली

इन दो महापर्व का खरीदारी के लिए लोगों को इंतजार रहता है।  आगामी पखवाड़े में  खरीद के महायोग से भरे हुए हैं। शास्त्रों की मानें तो अबूझ मुहूर्त में किया गया कार्य शुभ.समृद्धिए चिर स्थाई फल देने वाला होता है। कहते हैंए इन मुहूर्त में भगवान स्वयं आशीर्वाद देते हैं।

दीपावली तक के समस्त शुभ संयोग

1 अक्टूबर-रवियोग रात 8-9 बजे तक, द्विपुष्कर व राजयोग रात 2-44 से सूर्योदय तक, 

3 अक्टूबर-रवियोग रात 9-52 से, 

4 अक्टूबर-रवियोग रात 9-39 बजे तक, राजयोग रात 1-48 से सूर्योदय तक

5 अक्टूबर. शरद पूर्णिमाए सर्वथा सिद्धि योग 

6 अक्टूबर-अमृतसिद्धि योग सूर्योदय से रात 7-31 बजे तक, कुमार योग रात 7-31 से रात 10-04 बजे तक

8 अक्टूबर. करवाचौथए राजयोग 

9 अक्टूबर-सर्वार्थसिद्धि योग दिन के 2-02 से सूर्याेदय तक कुमार योग दिन 2-17 से, 

10 अक्टूबर-कुमार योग दिन के 12-09 बजे से सांय 7-03 बजे तक,

11 अक्टूबर-सर्वार्थसिद्ध योग सूर्योदय से दिन के 10-26 बजे तक, राजयोग दिन के 9-10 से 10-26 बजे तक, रवियोग दिन के 10-26 से,

12 अक्टूबर-रवियोग प्रातः 8-57 बजे तक, सर्वार्थसिद्धि योग प्रातः 8-57 से, 

13 अक्टूबर सर्वार्थसिद्धि योग प्रातः 7-46 बजे तक, पुष्य नक्षत्र सुबह 7ण्46 बजे से 

17अक्टूबर. धनतेरसएस्वयं सिद्धि योग अबूझ मुहूर्त 

18अक्टूबर. रूपचौदस और हनुमान जयंती सर्वार्थसिद्धि योग प्रातः 67-38 से अगले दिन सूर्योदय तक

19 अक्टूबर दृ दीपावली अबूझ मुहूर्त

इन दिनों भूल कर भी नही करे कोई शुभ कार्य

शास्त्रों के अनुसार इन योगों में शुभ कार्य वर्जित माने गये हैं द्य

14 अक्टूबर-ज्वालामुखी योग प्रातः 6-54 से रात 2-04 बजे तक, 

15 अक्टूबर-यमघंट योग सूर्योदय से अंतरात 6-07 बजे तक, राजयोग अंतरात 6-07 से सूर्योदय तक, 

 ज्योतिषाचार्य अक्षय शास्त्री 

 

Leave a Comment