मोदी के खिलाफ उंगली उठाई तो हाथ काट देंगे: बिहार BJP चीफ

पटना. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाने वालों को लेकर एक विवादित दिया। उन्होंने कहा- "मोदी की तरफ उठने वाली उंगली को, उठने वाले हाथ को हम सब मिलकर या तो तोड़ दें और जरूरत पड़े तो उस हाथ को काट दें।" हालांकि, जब विवाद बढ़ा तो उन्होंने अपने बयान पर खेद व्यक्त किया। उधर, लालू प्रसाद यादव ने कहा कि बीजेपी किस बात पर फख्र कर रही है। उनके पास फख्र करने लायक कुछ भी नहीं है।"

- सांसद नित्यानंद ने यह बयान वंशी साह उर्फ वंशी चाचा के शहादत दिवस पर दिया। उन्होंने कहा- "देश के गरीब का बेटा देश का प्रधानमंत्री बना है। इसलिए देश के एक-एक व्यक्ति को सब चीज से ऊपर उठकर उस पर (नरेंद्र मोदी) स्वाभिमान होना चाहिए। उसकी कद्र करनी चाहिए। उसकी ओर उठने वाली उंगली को, उठने वाले हाथ को हम सब मिलकर या तो तोड़ दें और जरूरत पड़े तो उस हाथ को काट दें।"

विवाद बढ़ने पर माफी मांगी

- विवाद बढ़ने के बाद नित्यानंद राय ने कहा- "मैंने मुहावरे के रूप में कहा था। मैं खेद व्यक्त करता हूं और अपने बयान को वापस लेता हूं।"

- बता दें कि नित्यानंद राय समस्तीपुर जिले के उजियारपुर से सांसद हैं। उन्हें 2016 में बिहार बीजेपी का अध्यक्ष बनाया गया था। राय यादव कम्युनिटी से हैं। इस वोट बैंक को संभालने के लिए बीजेपी ने उन्हें मैदान में उतारा था।

लालू ने कहा- कैसे-कैसे लोग राजनीति में आ गए हैं?

- लालू प्रसाद ने नित्यानंद के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा- "बीजेपी का प्रधानमंत्री ठूंठा प्रधानमंत्री है। बीजेपी देश में चारों तरफ से अपना जनाधार खो रही है। उसका कमल मुरझा गया है। बीजेपी में कैसे-कैसे लोग घुसे हैं। इनका कोई स्वाभिमान नहीं है। ये सब फालतू बात बोलते हैं।"

- आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने कहा- "यह न सिर्फ बड़ी खबर है आपके लिए, बल्कि बुरी खबर है। आखिरी बार ऐसी जुबान हमने पड़ोस में तालिबान से सुनी थी। हमें लगता था कि हम बहुत महफूज मुल्क हैं, पर अब ऐसा नहीं लगता है। " - "ऐसी चीजों के बाद अगर प्रधानमंत्रीजी चुप हैं तो उनका गुनाह मानता हूं।"

Leave a Comment