चित्तौड़गढ़ जिले के कई स्कूल उड़ता विद्यालय की श्रेणी में शामिल

चित्तौड़गढ़ जिले के कई स्कूल उड़ता विद्यालय की श्रेणी में आए

 

‘‘उड़ान’’ से शिक्षा के प्रति समुदाय की सोच में आया बदलाव-जिला कलक्टर

 

चित्तौड़गढ़ 03 फरवरी। जिला कलक्टर इन्द्रजीत सिंह ने शनिवार को जिला स्तरीय वीडियों कान्फ्रेंस के माध्यम से ब्लॉकस्तरीय अधिकारियों से ‘‘उड़ान’’ अभियान एवं जिले में चल रही कल्याणकारी एवं फ्लैगशिप योजनाओं की विस्तार से समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए गए।

जिला कलक्टर ने ‘‘उड़ान’’ अभियान में अब तक के हुए प्रयास व प्राप्त सफलता हेतु सबकों बधाई व धन्यवाद दिया। विशेषकर गणतंत्र दिवस पर समस्त समुदाय की अभूतपूर्व भागीदारी से अभिभूत हुए। श्री सिंह ने कहा कि समाज अब हमें आश्वान्वित नजरों से देखने लगा हैं। हम बालिका शिक्षा के प्रति समुदाय की सोच को सकारात्मक लाने में बहुत हद तक सफल हुए है। अब हमें गुणवत्ता शिक्षा की और अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। ‘‘उड़ान’’ के मुख्य स्तंभ में विद्यालयों में मुलभूत सुविधाएं, शत्प्रतिशत नामांकन, गुणवत्तापूर्ण ठहाराव में हमें अभी बहुत कुछ करने की जरुरत है। 

उन्होंने कहा कि हमें जिले के सभी विद्यालय को ‘‘उड़ता’’ विद्यालय बनाना ‘‘उड़ान’’ का अंतिम लक्ष्य है। हम जून, 2018 तक सभी बालक-बालिकाओं को विद्यालय से जोड़ पाएंगे ऐसा विश्वास है। महिला एवं बाल विकास विभाग से आंगनवाड़ी व विद्यालयों में प्रवेश योग्य शेष बालक-बालिकाओं को सूचीबद्ध कर उन्हें आगामी सत्र में स्कूल से जोड़ेंगे। समाज का विद्यालय की और ध्यान आकर्षण में हम पूर्णतया सफल हुए है। आमजन का ध्यान बालिका शिक्षा पर केन्द्रित हो चुका है। जब अधिकारी व जनप्रतिनिधि विद्यालय का दौरा कर सम्बलन देते हैं तो विद्यालय परिवार व आमजन में एक प्रेरणा जागृत होती है। जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों से ‘‘उड़ान’’ अभियान में अब तक के उनके अनुभव व सुझाव प्राप्त किये।

 

अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान में 26 जनवरी, 2018 को मनाए गणतंत्र दिवस के साथ शिक्षा चौपाल में एकत्रित राशि का ब्लॉकवार विशलेषण किया। साथ ही इस दिन सम्मानित किये गये प्रतिभावान बालिकाओं, पूर्व छात्राओं व भामाशाहों का विवरण पेश किया। इसके साथ ही ‘‘उड़ता’’ विद्यालय हेतु प्राप्त प्रस्तावों का भी ब्लॉकवार विशलेषण किया। डाटा फिडींग की नवीनतम जानकारी व खेल मैदान के प्रस्ताव पर चर्चा की। श्री सिंह ने दूर दराज के छोटे प्राथमिक स्कूल भी उड़ता विद्यालय की श्रेणी में हे यह जानकारी प्रसन्नता व्यक्त की। 

अतिरिक्त कलक्टर ने ‘‘उड़ता’’ विद्यालय हेतु जिले के सभी विद्यालयों को अंक देने व उनकी स्थिति जानने का सुझाव दिया। उपखण्ड अधिकारी चित्तौड़गढ़ ने शिक्षकों के कक्षा में शिक्षण सुचारू हो इस और ध्यान देने की जरुरत बताई।  

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत लाभार्थियों को किये जा रहे भुगतान, फोटो अपलोडेशन एवं मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना के संबंध में जिला परिषद के सीईओ रामदेव गोयल ने ब्लाकवार समीक्षा करते हुए कहा कि बकाया भुगतान की कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी इस गंभीरता से ले। 

जिला कलक्टर ने कहा कि स्वच्छ ग्राम योजना के तहत योजनाबद्ध तरीके से सक्रिय कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि चयनित ग्राम पंचायतों में नियमित साफ-सफाई के कार्य होने चाहिए। स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के तहत यूआईटी सचिव सीडी चारण ने ब्लॉक वार समीक्षा करते हुए कार्यों को शुरु कराने के निर्देश दिए। वीडियो कान्फ्रेंस में मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामदेव गोयल ने प्रधानमंत्री आवास योजना की ब्लॉकवार प्रगति की समीक्षा की। जिला कलक्टर ने वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 के प्रधानमंत्री आवास योजना की ब्लॉकवार समीक्षा के दौरान वीसी के माध्यम से अधिकारियों को कार्य में गति बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि कार्यां की प्रतिदिन मॉनिटरिंग करे। 

श्रम विभाग में निर्माण श्रमिक पंजीयन के कार्य एवं श्रमिकों को दिए गए लाभ एवं सहायता के बारे में समीक्षा करते हुए विभाग के करण सिंह ने विभिन्न ब्लॉकों में बकाया प्रकरणों की जानकारी दी। जिला कलक्टर ने सभी विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पेंडेंसी शून्य करें। उन्होंने विकास अधिकारियों को स्कीमों के भुगतान करने के निर्देश देते हुए उपयोगिता प्रमाण पत्र भिजवाने की बात कही। 

 

मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामदेव गोयल ने बताया कि दीनदयाल उपाध्याय शिविर के प्रथम फेज के सर्वें का कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने कहा कि अधिकारी शिविरों के सर्वे कार्यां को गंभीरता से करें एवं गुणवत्ता का ध्यान रखें। जिला कलक्टर श्री इन्द्रजीत सिंह ने शिविरों के सर्वे के बारे में कहा कि इसकी प्रभावी मॉनिटरिंग होनी चाहिए। कार्य को गंभीरता से लेते हुए अधिकारी ब्लॉक स्तर पर कार्य करें। 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक ओमप्रकाश तोषनीवाल ने दिव्यांग प्रमाणीकरण के कार्य को समयबद्धरूप से पूरा करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए बीसीएमओ स्तर पर प्रमाणीकरण के बकाया आवेदनों की जानकारी दी। उन्होंने बीसीएमओ स्तर से आवेदन को सीएमएचओ स्तर पर शीघ्र भिजवाने के निर्देश दिए।

 

जिला कलक्टर ने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के कार्यों को गंभीरता से लेते हुए अभियान तहत द्वितीय चरण के बकाया कार्य को शीघ्र पूरा करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। तीसरे चरण की तैयारी की समीक्षा करते हुए अधीक्षण अभियंता अतुल जैन ने आईईसी गतिविधियों की प्रगति पर चर्चा करने के साथ-साथ उसकी रिर्पोंटिंग करने की बात कही। 

जिला कलक्टर ने राज्य सरकार की प्रमुख फ्लैगशिप योजनाओं की जिलेवार रेटिंग के संबंध में अधिकारियों से चर्चा करते हुए योजनाओं की क्रियांविति में प्रभावी मॉनिटरिंग करें जिससे जिला रेटिंग में आगे रहे। 

वीडियों कान्फ्रेंन्स में रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, उपवन संरक्षक एसपी सिंह सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। 

Leave a Comment