सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली मामले पर केंद्र सरकार और उपराज्यपाल को दिखाया आइना - अभिषेक जैन बिट्टू

जयपुर। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद बुधवार को आम आदमी पार्टी राजस्थान के युवा नेता अभिषेक जैन बिट्टू ने कहा की " दिल्ली के अधिकारों की लड़ाई में केंद्र सरकार के सत्ता का अहंकार टुटा है और दिल्ली के आम जनता की एक बार फिर से जीत हुई है। पिछले तीन वर्षो से केंद्र सरकार दिल्ली राज्य सरकार के अधिकारों पर उपराज्यपाल के द्वारा विकास कार्यो में बाधक बनाकर कब्जा करने की साजिश रच रही थी जो अब पूरी तरह से सुप्रीम कोर्ट में नाकाम साबित हुई है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की पांच सदस्यीय बेंच ने अपनी टिप्पणी में कहा है की " उपराज्यपाल स्वतंत्र फैसले नहीं ले सकते है, उन्हें सरकार की सलाह पर काम करने चाहिए ना की उनपर बाधा उत्पन करनी चाहिए, दिल्ली की सरकार एक चुनी हुई सरकार है जिनकी जवाबदेही जनता के प्रति है ना की प्रशासन के प्रति।  

जैन ने कहा की पिछले तीन वर्षो से केंद्र सरकार उपराज्यपाल का इस्तेमाल कर दिल्ली के विकास कार्यो में बाधा उत्पन कर रही थी जिसको लेकर दिल्ली की आम जनता से किये गए आम आदमी पार्टी की सरकार को कार्य करने में तकलीफो का सामना करना पड़ता रहा है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद उम्मीद जगी है की उपराज्यपाल दिल्ली सरकार की सलाह पर कार्य कर दिल्ली की आम जनता के प्रति किये जा रहे विकास कार्यो को आगे बढ़ाएंगे। 

पिछले तीन वर्षो में केंद्र सरकार ने उपराज्यपाल के जरिये दिल्ली सरकार में एक संशोधन कर सारे अधिकार स्वयं के पास रख लिए और एक चुनी हुई लोकतान्त्रिक सरकार को कठपुतली की तरह नाचने और बदनाम करने की साजिश रची किन्तु " भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं है। " हाईकोर्ट के निर्णय के बाद सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई गई जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने लोकतंत्र का सम्मान बनाये रखा और अपना स्पष्ट निर्णय दिल्ली के आम  जनता के प्रति सुनाया है।  यह जीत आम आदमी पार्टी की या सरकार की जीत नहीं यह जीत दिल्ली और देश के लोकतंत्र की जीत है दिल्ली की आम जनता की जीत है जिन्होंने आम आदमी पार्टी पर विश्वास जता विश्व कीर्तिमान रचा और 70 में 67 सीटों पर विजयी बनाया, किन्तु भाजपा को दिल्ली की आम जनता का विश्वास रास नहीं आया तो उन्होंने सत्ता का इस्तेमाल कर लोकतंत्र को कुचलने की साजिश रचते हुए दिल्ली सरकार के अधिकार ही छिन्न लिए। भाजपा को लोकतंत्र से खिलवाड़ ना कर स्वयं के अंदर झाकना चाहिए और आत्म मंथन करना चाहिए की सत्ता का सुख मतभेद से नहीं कार्यो से मिलता है, बदला लेने से बदलाव लाने से मिलता है। केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान करना चाहिए और दिल्ली की आम जनता के विकास कार्यो के लिए दिल्ली सरकार की मदद करनी चाहिए।  

Leave a Comment