सुधरेगी बिजली व्यवस्था, अजमेर में 5.3 करोड़ की लागत से बनेगा जीएसएस

अजमेर/जयपुर। शिक्षा एवं पंचायतीराज मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि राज्य सरकार अजमेर शहर को विद्युत के क्षेत्र में पूरी तरह विकसित करने तथा उच्च गुणवत्ता की बिजली देने के लिए गंभीरता के साथ काम कर रही है। अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में सुधार के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए गए हैं। आईपीडीएस योजना के तहत शहर के विभिन्न क्षेत्रों में इस तरह के जीएसएस स्थापित किए जा रहे हैं, ताकि उच्च गुणवत्ता तथा बिना ट्रिपिंग की बिजली उपलब्ध हो।

देवनानी ने शनिवार को फायसागर रोड स्थित फिल्टर प्लांट पर 5.3 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 33 केवी जीएसएस का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नया जीएसएस शुरू होने से फायसागर रोड एवं आसपास की कॉलोनियों में रहने वाले करीब 40 हजार लोगों को विद्युत संबंधी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी। आईपीडीएस योजना के तहत इस जीएसएस का निर्माण किया जा रहा है। इसके तहत 5.3 करोड़ रुपए की लागत से करीब डेढ़ किलोमीटर लम्बी 33 केवी की लाइन डाली जाएगी। जीएसएस के निर्माण से फायसागर रोड, महावीर कॉलोनी, संत कंवर राम कॉलोनी, नागफणी, ऋषि घाटी तथा आसपास क्षेत्रों के हजारों लोगों को गुणवत्तापूर्ण विद्युत सप्लाई मिलेगी। साथ ही ट्रिपिंग की समस्या से भी छुटकारा मिल जाएगा। 

उन्होंने कहा कि अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में पिछले साढ़े चार साल में विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए गए हैं। नई जीएसएस के साथ ही शहर की प्रमुख सडक़ों पर अंडर ग्राउंड केबलिंग, नई लाइटें सहित अन्य कार्य कराए गए हैं। शहर के साथ ही आसपास के गांव माकड़वाली, लोहागल, हाथीखेड़ा, अजयसर एवं अन्य गांवों में भी विद्युत व्यवस्था में सुधार हुआ है। 

Leave a Comment