नहीं खत्म करा सके रोडवेज की हड़ताल, परिवहन मंत्री यूनुस खान की नाकामी

जयपुर। प्रदेश के मंत्री सुराज यात्रा की तैयारी में व्यस्त हैं। इधर जनता रोडवेज में हड़ताल से त्रस्त है। परिवहन मंत्री यूनुस खान अब तक रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल का काई समाधान नहीं निकाल पाए हैं। वे सुराज यात्रा की तैयारियों में व्यस्त हैं। प्रदेशवासियों को अब उनका दुख-दर्द महसूस करने वाली मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से उम्मीद हैं कि वे इस मामले में दखल देकर उनकी परेशानियों को दूर करने का प्रयास करेंगी।

बता दें कि रोडवेज कर्मी आज भी हड़ताल पर हैं। हड़ताल के कारण पूरे प्रदेश में यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है। कल गुरुपूर्णिमा है। और जनता का अपने-अपने गुरुओं के पास पहुंचने का सिलसिला चल रहा है। ऐसे में बसों की हड़ताल के कारण उनके समक्ष निजी वाहनों में यात्रा करने की मजबूरी है। निजी वाहन यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं। प्रदेश के परिवहन मंत्री युनूस खान को यात्रियों की परेशानियों से कोई इत्तेफाक नहीं है। उनकी ओर से अब तक कोई पहल नहीं की गई है। 

ज्ञात हो कि राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों के आह्वान पर राेडवेज कर्मचारी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर दो दिन की हड़ताल पर हैं। आज हड़ताल का दूसरा दिन है। हालात ये हैं कि रोडवेज बस स्टैंड सूने पड़े हैं। रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल से सरकार को करीब 11 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

जानकारी के अनुसार रोडवेज कर्मचारी अपनी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर 25-26 जुलाई को प्रदेशव्यापाी हड़ताल पर हैं। श्रमिक संगठन हड़ताल के जरिए सेवानिवृत कर्मचारियों को बकाया परिलाभ दिए जाने, बोनस व डीए देने, 7वें वेतन आयोग के अनुसार रोडवेज के वेतन-भत्ते आदि में संशोधन करने आदि मांग कर रहे हैं। 

Leave a Comment