विदेशी बाजार के मजबूत संकेतों से औद्योगिक धातुओं के दाम तेज

नई दिल्ली। विदेशी बाजार से मिले मजबूत संकेतों से गुरुवार को घरेलू वायदा बाजार में औद्योगिक धातुओं में तेजी का सिलसिला जारी रहा। 

सभी औद्योगिक धातुओं यानी बेस मेटल की कीमतों में बढ़त देखी गई। इसे अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी रहने की संभावना जाहिर किए जाने से भी धातुओं के दाम को सपोर्ट मिला है।

बाजार के जानकारों के अनुसार, डॉलर में आई कमजोरी और चीन में आर्थिक गतिविधियों में सुधार लाने के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे उपायों के कारण औद्योगिक धातुओं में तेजी आई है।

इस बीच आस्ट्रेलिया स्थित अल्कोआ कंपनी में कामगारों और सरकार के बीच बातचीत एक नतीजे पर नहीं पहुंचने के कारण हुई हड़ताल के कारण एल्यूमीनियम में तीन फीसदी से ज्यादा की तेजी आई। 

कमोडिटी विशेषज्ञ ने बताया कि जापानी करेंसी येन में आई मजबूती से डॉलर में गिरावट आई जिससे बेस मेटल को सपोर्ट मिला। चीन में जो आर्थिक आंकड़े आए हैं वे काफी सकारात्मक हैं इसलिए मेटल का सपोर्ट मिल रहा है।

शुरुआती कारोबार में पूर्वाह्न 10.44 बजे मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर तांबा का अगस्त वायदा 4.80 रुपये यानी 1.15 फीसदी की बढ़त के साथ 422.80 रुपये प्रति किलो था जबकि इससे पहले 423.15 रुपये प्रति किलो तक का उछाल देखा गया। जस्ता में 0.41 फीसदी की बढ़त के साथ 181.70 रुपये प्रति किलो और एल्यूमीनियम में 0.31 की बढ़त के साथ 145 रुपये प्रति किलो पर कारोबार चल रहा था। निकेल तकरीबन स्थिरता के साथ 960.60 रुपये प्रति किलो जबकि शीशा में 0.51 फीसदी की बढ़त के साथ 147.10 रुपये प्रति किलो पर कारोबार देखा गया।

भारतीय करेंसी रुपया भी गुरुवार को डॉलर के मुकाबले 15 पैसे की मजबूती के साथ 68.48 रुपये प्रति डॉलर पर खुला।

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर विजय केडिया ने कहा, ‘‘डॉलर में आई गिरावट और चीनी सरकारी व्यय में बढ़ोतरी से बुनियादी ढांचागत कार्य में तेजी आने के संकेत है जिससे औद्योगिक धातुओं की मांग बढ़ेगी।’’ 

उन्होंने कहा कि चीन में जुलाई में उपभोक्ता वस्तुओं की मंहगाई दर पिछले महीने के 1.9 फीसदी से बढक़र 2.1 फीसदी और पीपीआई यानी उत्पादक वस्तुओं की महंगाई दर 4.7 फीसदी से घटकर 4.6 फीसदी रह गई।

लंदन मेटल एक्सचेंज यानी एलएमई पर गुरुवार को एल्यूमीनियम 0.40 फीसदी की बढ़त के साथ 2,120.25 डॉलर प्रति टन पर कारोबार कर रहा था जबकि इससे पहले भाव 2,145.75 डॉलर प्रति टन तक उछला। वहीं, जस्ता में 0.27 फीसदी की मजबूती के 2,615.75 डॉलर प्रति टन पर कारोबार चल रहा था इससे पहले 2,619.50 डॉलर के स्तर तक कारोबार हुआ।

शीशा में भी 0.30 फीसदी की बढ़त के साथ 2,144.50 डॉलर प्रति टन पर कारोबार चल रहा था, जबकि इससे पहले भाव 2,14 7.75 डॉलर प्रति टन तक उछला। तांबा में 0.77 फीसदी की बढ़त के 6,220 डॉलर प्रति टन पर कारोबार चल रहा था, मगर इससे पहले 6,20.25 डॉलर प्रति टन तक का उछाल देखा गया।

हालांकि निकेल का भाव 14,057.50 डॉलर प्रति टन से फिसलने के बाद 0.07 फीसदी की कमजोरी के साथ 14,020 डॉलर प्रति टन पर बना हुआ था।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर बीते सत्र में भी शीशा को छोडक़र बाकी औद्योगिकी धातुओं में बढ़त बनी रही। 

Leave a Comment