हिंदू पत्नी की आखिरी इच्छा पूरी करना चाहता है मुस्लिम पति, मंदिर वालों ने किया मना

नई दिल्ली। अक्सर हम सभी फिल्मों और नाटकों में अंतरजातिय विवाह में प्रेमी-युगल की कहानियां खूब सुनने और देखने को मिलती है। लेकिन हाल ही में अनोखा मामला सामने आया है जहां एक एक मुस्लिम पति अपनी हिंदू पत्नी की ‘आखिरी इच्छा’ पूरी करने की जंग लड़ रहा है। खबरों के मुताबिक, पिछले हफ्ते निवेदिता घातक रहमान की मौत मल्टी ऑरगन फेलियर के कारण हुई। 

उनके परिवार ने उसका अंतिम संस्कार उसी दिन निगम बोध घाट पर किया। लेकिन निवेदिता का परिवार उनका श्राद्ध नहीं कर पाया, क्योंकि मंदिर समिति ने उनके श्राद्ध की बुकिंग को कैंसिल कर दिया। हालांकि इस मामले में परिवार को एक सामाजिक-सांस्कृतिक संस्था की मदद मिली। 

संस्था ने मृतक महिला का श्राद्ध कराने की पेशकश की। महिला के पति ने बताया कि हमने उनके श्राद्ध के लिए चितरंजन पार्क काली मंदिर में 6 अगस्त को बुकिंग की थी और 1,300 रुपए का भुगतान किया था।

Leave a Comment