दिल्ली का मुख्यमंत्री मेरा यार था भी और है भी-मंच से बोले कुमार विश्वास

बारां@ जागरूक जनता। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अंतराष्ट्रीय कवि डॉ. कुमार विश्वाश के बीच लोकसभा चुनाव के बाद हुआ मनमुटाव किसी से छुपा नहीं रहा। अधिकतर कवि सम्मेलन के मंच पर विश्वाश अपने मंच से केजरीवाल पर अपने अंदाज में निशाना मारने से नहीं चूकते ..यहाँ तक कि आम आदमी पार्टी के साथ अपने अनुभवों को भी बड़े दर्द के साथ गीतों में श्रोताओं के मध्य सुना देते है ..लेकिन लंबे अरसे बाद कुमार विश्वाश ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार की तारीफ करते हुए अपना दोस्त बताया है। हालांकि विश्वाश ने मंच से केजरीवाल का नाम तो नहीं लिया, लेकिन दिल्ली का मुख्यमंत्री कहकर जरूर संबोधित किया।

बाराँ के श्री राम स्टेडियम में आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में सैनिक आैर शहीदों का जिक्र हुआ तो इसी दौरान उन्होंने दिल्ली में आम आदमी पार्टी के चुनाव जीतने का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 'दिल्ली का मुख्यमंत्री मेरा यार था भी और है भी' उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनाव के बाद केजरीवाल द्वारा उनसे कोई आयोग कोई एकेडमी उन्हें देने का जिक्र किया गया लेकिन उनके द्वारा सेक्रेटेड का पानी भी पीने से इंकार कर दिया गया। खाना खाने की बात पर भी विश्वाश ने केजरीवाल की पत्नी के हाथ का खाना खाने की बात कही। विश्वास बताते है कि इस दौरान उन्होंने केजरीवाल से एक चीज की मांग की थी। 

Leave a Comment