बहू तालाब में गिरी, बचाने के लिए ससुर उतरा, दोनों को देख बेटा भी कूदा; तीनों की मौत

लूणकरणसर (बीकानेर)@ जागरूक जनता. . राजस्थान में बीकानेर जिले के लूणकरणसर इलाके में खेत में बनी पानी की डिग्गी (तालाब) में डूबने से तीन जनों की मौत हो गई। इसमें पिता-पुत्र व पुत्रवधु शामिल है। तीनों के शव देर रात तक डिग्गी से नहीं निकाले जा सके। डिग्गी में दस फीट से अधिक पानी था और अंधेरा होने के कारण वे मिल भी नहीं पा रहे थे।

पानी निकालने के लिए जेनरेटर लगाया गया। सीओ दुर्गपाल सिंह राजपुरोहित ने बताया कि किस्तुरिया गांव के चक 398 आरडी पर भंवर लाल नायक अपने परिवार के साथ रहता है।  शाम छह बजे उसकी पुत्रवधु लिक्ष्मा (23) पानी लेने के लिए डिग्गी में गई। उसका पैर फिसला तो वह उसमें गिरकर डूबने लगी। लिक्ष्मा के चिल्लाने पर उसका ससुर भंवर लाल (50) उसे बचाने के लिए डिग्गी में कूद गया।

दोनों ही डूबने लगे तो लिक्ष्मा का पति लेखराम (24) उन्हें बचाने के लिए अंदर कूद गया। वे तीनों डूबने लगे। उन्हें बचाने के लिए भंवर लाल की पत्नी ने रस्सी भी अंदर डाली मगर वे उसे पकड़ नहीं पाए और उनकी आंखों के सामने तीनों डिग्गी में डूब गए। सीओ ने बताया कि 15 फीट गहरी डिग्गी में दस फीट से अधिक पानी भरा हुआ है। उनके शव को बाहर निकालने के लिए डिग्गी में जेनरेटर लगाकर पानी निकाला जा रहा है। लूणकरणसर से खोताखाेर भी बुलाए हैं।

Leave a Comment