मुख्य चयनकर्ता प्रसाद की नजर में वर्ल्ड कप में भारत के लिए सबसे अहम साबित होंगे धोनी

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के चयन समिति के प्रमुख प्रमुख एमएसके प्रसाद का मानना है कि विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी हालिया फॉर्म और अनुभव के कारण इंग्लैंड में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के लिए काफी अहम साबित होंगे। प्रसाद के मुताबिक, चाहे बात कप्तान विराट कोहली को सलाह देने की हो, विकेटकीपिंग की हो या फिर मैदान में युवा खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करने की हो, धोनी वर्ल्ड कप में भारत के लिए सबसे अहम व्यक्ति साबित होंगे।

माही अपने स्वाभाविक खेल की ओर लौटे

उन्होंने खेल वेबसाइट क्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘पिछली दो सीरीज में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ माही जिस तरह खेले उससे साफ है कि उन्होंने अपना स्वाभाविक खेल खेलने का फैसला कर लिया है। यह वही धोनी हैं जिन्हें हम जानते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमें बहुत खुशी होगी यदि वे अपनी जबरदस्त पारियां खेलने वाली शैली दिखा पाएं। उनके अंदर एक ताकत है जिसका वे अपनी बल्लेबाजी में इस्तेमाल करते हैं। हमें वही पुराने धोनी की जरुरत है। वे जिस तरह लगातार खेल रहे हैं हमें उनका पुराना टच दिखाई दे रहा है।’

धोनी की अगुआई में 2011 में टीम इंडिया ने जीता था वर्ल्ड कप

37 वर्षीय धोनी का यह चौथा विश्व कप होगा। वे विश्व कप के बाद सात जुलाई को 38 साल के हो जाएंगे। भारत ने धोनी के नेतृत्व में ही आखिरी बार 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। वे इस समय टीम के नेतृत्व समूह का अभिन्न हिस्सा हैं। हालांकि, पिछले एक साल में कई मौकों पर बल्लेबाजी को लेकर उनकी आलोचना भी हुई है। धोनी की हाल की फॉर्म से खुश प्रसाद ने कहा, ‘भारत के वर्ल्ड कप में उतरने से पहले धोनी आईपीएल में खेलेंगे। उन्हें आईपीएल में 14-16 मैच खेलने को मिल सकते हैं। आईपीएल के लगभग सभी मैच हाई प्रेशर वाले होते हैं। ऐसे में धोनी को अपनी ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड वाली फॉर्म को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।’

धोनी की विकेटकीपिंग स्किल्स पर कभी कोई संदेह नहीं रहा

उन्होंने कहा, ‘हमें उनकी विकेटकीपिंग को लेकर कभी कोई संदेह नहीं था। बस उनकी बल्लेबाजी फॉर्म को कुछ चिंता थी। हालांकि, हम जानते थे कि वे जितना ज्यादा खेलेंगे अपनी फॉर्म हासिल कर लेंगे। एक खिलाड़ी के करियर में ऐसे उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। उनके जैसे बड़े खिलाड़ी को कुछ बताने की जरुरत नहीं होती है। वे जानते हैं कि उनसे क्या उम्मीदें लगाई जाती हैं।’

धोनी को हटाया नहीं गया था, बल्कि विकल्प ढूंढने की कोशिश की गई थी : प्रसाद

वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में धोनी के ना चुने जाने और उनके भविष्य पर सवाल उठने के मुद्दे पर प्रसाद ने कहा, ‘उन्हें हटाया नहीं गया था। मैंने खुद धोनी और टीम प्रबंधन से बात की थी। मैंने उन्हें बताया था कि हमें वर्ल्ड कप के लिए दूसरे विकेटकीपर की पहचान करनी है। हम दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत को ज्यादा समय देना चाहते हैं। यही कारण था कि कार्तिक और पंत उन 6 टी-20 में खेले थे।’ यह पूछने पर कि क्या धोनी ने यह संकेत दिया है कि यह उनका आखिरी वर्ल्ड कप होगा, प्रसाद ने कहा, ‘हमने इस बात पर कोई चर्चा नहीं की है। ऐसे बड़े टूर्नामेंट से पहले यह उचित नहीं होगा कि उनके ध्यान को भटकाया जाए। हमारी सारी ऊर्जा वर्ल्ड कप के लिए अच्छी तैयारी पर लगी होनी चाहिए।’

Leave a Comment