घर में बॉल जाने पर लौटाती नहीं थी वृद्ध महिला, छात्र ने चाकू से 25 वार कर जान ले ली

सीकर (राजस्थान). शहर के नायकों का मोहल्ला में एक दिन पहले हुई 65 साल की रमा देवी की हत्या के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। वृद्ध महिला की हत्या पड़ोस में ही रहने वाले 10वीं के छात्र ने की। इसकी उम्र 15 साल है। पुलिस ने बताया कि छात्र ने जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि महिला खेलते समय बॉल या अन्य सामान घर में जाने पर वापस नहीं देती थी। इसी बात से नाराज होकर उसने यह कदम उठाया।

पुलिस के मुताबिक, छात्र ने बुधवार शाम को इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपी वृद्धा के कमरे में उस वक्त गया जब वह अकेली थी। उसने पहले महिला की दोनों आंखें बंद कर दीं। फिर चाकू से ताबड़तोड़ 20-25 वार किए और भाग गया। छात्र ने वृद्धा के सिर, पेट, दोनों हाथ और दोनों पैरों पर वार किए। महिला को गंभीर हालात में अस्पताल में ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। 

आरोपी नाना के घर रहता था

पुलिस ने आरोपी को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया, जहां से उसे बाल संप्रेषण गृह भेज दिया। आरोपी छात्र ढाई साल की उम्र से ही नायकों का मोहल्ला वार्ड 6 में अपने नाना के यहां रह रहा है। वृद्धा अकेली रहती थी।

हत्या के समय वृद्धा चिल्लाई थी

पुलिस ने बताया कि हत्या के वक्त वृद्धा ने छात्र का विरोध किया और जोर से चिल्लाई भी थी, लेकिन वह जल्द बेहोश हो गई। पकड़ में नहीं आए इसलिए आरोपी वृद्धा के मकान के मैन गेट से निकलने की बजाय पीछे गैलरी में गया और बाउंड्रीवाल पर चढ़कर पड़ोस के मकान की छत पर चढ़ गया। वहां से अपने नाना के घर की छत पर पहुंच गया।

दीवारों और दो छतों पर खून के धब्बे मिले तो पकड़ में आया

इसके बाद उसने खून से सने कपड़े उतारकर अपने घर में बेड के नीचे छुपा दिए। बाउंड्रीवाल, पड़ोसी और नाना की छत पर जहां-जहां से वह चढ़ा, वहां खून के निशान मिले। खून के धब्बे देखकर ही पुलिस इस अपराधी तक पहुंची। गुरुवार को पुलिस ने छात्र को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह 10वीं बोर्ड की परीक्षा देकर घर लौटा था।

 

Leave a Comment