राजस्थान के सरकारी विश्वविद्यालयों की रैंकिंग टॉप 200 में भी नहीं

जयपुर @ जागरूक जनता। । केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की रैंकिंग मेें प्रदेश का एक भी सरकारी विश्वविद्यालय टॉप 200 में भी स्थान नहीं पा सका है।। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क की तरफ से 9 कैटेगिरी में शिक्षण संस्थानों की रैंकिंग जारी हुई है। इसमें प्रदेश का एक भी सरकारी विश्वविद्यालय टॉप 100 में जगह नहीं पा सका है। 

इंजीनियरिंग कैटेगिरी में आईआईटी जोधपुर और एमएनआईटी को जगह मिली है। वहीं मैनेजमेंट कैटेगिरी में उदयपुर आईआईएम को 13वां स्थान मिला है। जबकि लॉ कैटेगिरी में जोधपुर की नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी को छठा स्थान मिला है। वहीं रैकिंग में निजी क्षेत्र के 2 विश्वविद्यालय ही जगह बना पाए है। बिट्स पिलानी को 39, वनस्थली विवि को 87 रैंक मिली है।आपको बता दे कि एनआईआरएफ के तहत देश में शिक्षण संस्थानों को पिछले 3 वर्ष से रैंक दी जा रही है। यह 5 मापदंडों के आधार पर तय होती है। इसमें शिक्षण, संसाधन पहले मापदंड में शामिल है। इसके बाद शोध, ग्रेजुएशन आउटकम, जैसे मापदंड शामिल है।

Leave a Comment