गांधी विरोधी ट्वीट के लिए महाराष्ट्र की IAS अधिकारी स्थानांतरित, मांगा जवाब

मुंबई। बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) की संयुक्त नगरायुक्त (विशेष) निधि चौधरी के गांधी विरोधी ट्वीट के कारण महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार को उनका तबादला मंत्रालय में कर दिया। आधिकारिक सूत्रों ने यहां कहा कि निधि को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। सरकार ने उनके ट्वीट को महात्मा गांधी के खिलाफ एक निंदा के रूप में लिया, जिसके बाद यह कदम उठाया गया। 

2012 के बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) की अधिकारी चौधरी को राज्य मुख्यालय में जल आपूर्ति और स्वच्छता विभाग में उप सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है। उन्हें ट्विटर पर की गई पोस्ट के संबंध में अपनी स्थिति स्पष्ट करने के लिए भी कहा गया है। निधि के ट्वीट ने राज्य सरकार को शर्मिंदा किया और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को घटना के बारे में एक मजबूत दृष्टिकोण अपनाने के लिए प्रेरित किया। 

चौधरी ने 17 मई को एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने कहा था, 150वीं जयंती वर्ष का क्या शानदार समारोह चल रहा है.. यह सही समय है जब हम अपनी मुद्रा पर से उनके चेहरे को, दुनियाभर से उनकी मूर्तियों को हटा दें, उनके नाम पर रखे गए संस्थानों/सडक़ों के नाम बदल दें। यह हम सभी के लिए एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी! 30 जनवरी, 1948 के लिए गोडसे को धन्यवाद।

Leave a Comment